पृष्ठ

गुरुवार, 31 दिसंबर 2009

हैप्पी न्यू इयर २०१०


नया साल ! हमेसा की तरह इस साल भी नया पुराना साल गया और नया साल आया, में न्यूज़ रूम में था और मुंबई, दिल्ली और अन्य शहरू से सीधा पर्सारण न्यूज़ रूम में देख रहा था और लोगू को खुसी और जिन्दा दिली देख रहा था कैसे लोग नए साल की तयारी में घर से निकल कर थिरक रहे थे, गा रहे थे, गले मिल रहे थे,खा रहे थे, पी रहे थे और पता नहीं क्या क्या....कहते हैं न ख़ुशी का कोई ठिकाना नहीं होता है....वही हुआ ....न्यूज़ रूम में रात के बारह बजते ही सभी सथियौं ने एक दुसरे को बधाई दी,,हमारे डेस्क में हमारे बरिष्ठ राम सर आये और सबको बधाई दी & आशीर्वाद, मेरे साथी अभिषेक, वरुण,आउट पुट डेस्क से सभी साथी और अन्य ने आपस में नए साल के आगमन पर खुशी बांटी.......अच्छा लगा...रात के तक़रीबन १ बजने को है और अब घर भी जाना है....काफी लोगू के फोन आये ..और नए साल की विश के साथ सबसे बात हुई....देखते हैं आने वाला साल क्या ले कर आता है....इश्वर करे सब के लिए ख़ुशी लाये और तरक्की दे सब को....यही दिल की तमन्ना है .......एक बार फिर से नए साल की सभी को हार्दिक शुभ कामना है.......हैप्पी न्यू इयर २०१० !

रविवार, 20 दिसंबर 2009

बी जे पी का नया चेहरा नितिन गडकरी ....


भारतीय जनता पार्टी आंखिर मंथन के दौर से बहार निकल ही गई, हेवी वेट नेताऊ को छोड़ कर नए नवेले नितिन गडकरी को पार्टी का रास्ट्रीय अध्यक्ष बनाया गया है....आंखिर संघ ने फिर से पार्टी की नाक दबाई, और अपना काम कर दिया...गडकरी को पडोसी होने के फ़ायदा भी मिला संघ का ...खैर ये तो इत्तेफाक की बात है....आंखिर संघ को भी देर सबेर समझ आ ही गया....भाजपा के नवनियुक्त राष्ट्रीय अध्यक्ष नितिन गडकरी ने कहा है कि वे केन्द्रीय राजनीति के लिए नए है और पार्टी ने उनके कंधों पर बडी जिम्मेदारी सौंपी है। जिसे वे आडवाणी जैसे वरिष्ठ नेताओं के मार्गदर्शन में पूरी करने की कोशिश करेंगे।अडवाणी कितना साथ देते हैं और आशीर्वाद ये दो सालू में देखने को मिलेगा लेकिन अडवाणी के लिए भी यह एक खतरे की घंटी है...राजनाथ सिंह तो गाजिआबाद में ही सिमट के रह गए हैं अब...गडकरी अडवाणी से मिलने गए थे और वेंकियाह नायडू भी साथ में थे...खैर एक बात तो है आने वाले दिनू में भारतीय जनता पार्टी के लिए देखने वाले दिन होंगे....52 वर्षीय नितिन गडकरी राष्ट्रीय अध्यक्ष बनने से पहले महाराष्ट्र में भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष थे. वो महाराष्ट्र विधान परिषद के सदस्य भी हैं.जन्म महाराष्ट्र के नागपुर ज़िले में एक ब्रह्मण परिवार में हुआ. और उन्होंने एलएलबी और एमकॉम तक की शिक्षा ली है। चुनाव आयोग ने उनके ख़िलाफ़ मामला दर्ज किया था, चुनाव के दौरान उन्हूने मनमोहन सिंह के खिलाफ आप्पति जनक टिपण्णी की थी.....एक बात तय है राजनीती के केंद्र रहे उत्तर परदेश बिहार जैसे राज्य अब काफी पीछे रह गए हैं , रास्ट्रीय राजनीती में महारास्त्र अब इन सबमे ऊपर आ गया है...चाहे मनसे हो , शिव सेना हो या फिर अब नितिन गडकरी के रूप में भारतीय जनता पार्टी ...केंद्र बिंदु राजनीती का महारास्त्र....! अगले दो साल तक कोई बड़ा चुनाव भी नहीं है...और वैसे भी अभी वरिष्ठ नेताऊ की भड़ास तो निकलनी बाकी है....फिर राहुल बनाम नितिन की लड़ाई तो रहेगी ही ...दोनु युवा हैं और अच्छे पढ़े लिखे भी.....देखते रहिये होता है क्या ......

रविवार, 13 दिसंबर 2009

आमिर का 'बनारसी अंदाज'.......

आमिर खान ......! जी हाँ हमेशा से ही एक ऐसा नाम... जिसने हिंदी सिनेमा में अपना अलग मुकाम बनाया है....जिस सख्स ने हिंदी सिनेमा को अच्छी फिल्मे दी हो .... और हिंदी सिनेमा उन्हें एक सफल कलाकार मानता हो ... और वे हैं भी....आमिर हमेशा से ही मेरे मनपसंद के कलाकार रहे हैं, सबसे बड़ी बात है उनका काम करने का तरीका... सबसे हटके ...और दिल को छू जाने वाला...उनकी पहली फिल्म 'क़यामत से क़यामत तक 'से लेकर आज ताक उन्हूने बेहतरीन फिल्मे दी हैं ...पहली फिल्म के प्रोमोशन पर उन्हूने खुद आधी रात में पोस्टर मुंबई के सडकू पर चिपकाए थे , वह भी एक परमोशन था, और आज भी एक परमोशन ....बनारास के जो दृश्य हमें देखने को मिले मीडिया के द्वारा....कुछ हटकर था..., भेष बदलकर वे बनारस की गलियौं में घूमे, लोगू से मिले, ख़ास अंदाज में.....वही बनारसी अन्ज्दाज में......और आज का मीडिया जो अपने आप को तेज़ मानता है कुछ नहीं कर सका, जब चिडया चूक गई खेत तब क्या हो ........मुह में पान चबाये.....गले में मफलर लपेटे, हलकी दाढ़ी.... कोई और नहीं बल्कि आमिर जैसा कलाकार ही ऐसा कर सकता है ...... और यह एक ज़मीन से जुड़े हुए आम आदमी के किरदार निभाने वाले कलाकार की ख़ास बात है....काबिले तारीफ ! वरना बोलीवूड में चिकने-चुपड़े कलाकार कहा तंग गलियौं में आयेंगे ये कोई सोच भी नहीं सकता...आमिर जैसा कलाकार ही ऐसा कर सकता है....उम्मीद है उनकी ''थ्री इडियट्स' या तीन बुद्धू कहु तो ठीक ही होगा न ? फिल्म भी और फिल्मू की तरह ही हिट होगी...मेरी सुभकामना .......!