पृष्ठ

गुरुवार, 2 अक्तूबर 2008

राहुल गाँधी का मिटटी का तसला ?


कांग्रेस पार्टी के युवराज ने आदिवासियौं के साथ कुछ टाइम के लिए मजदूरी कर गाँधी खान दान की चतुर राजनीतिक चालूं को चलना शुरू कर दिया है...ऐसा कर क्या वे कांग्रेस के वास्तविक मतदाताओउं की ऊंगली को पकड़े रख सकते है? आपका क्या कहना है इस बारे में....