पृष्ठ

रविवार, 31 अक्तूबर 2010

कब सुधरेगा इंडिया... भ्रस्ट देशों में 57 नंबर पर !.....

कोमन वेल्थ गेम में हुए बम्पर भ्रष्टाचार के चलते भारत 87 नंबर पर झूम रहा है, पहले यह 85 जगह पर था...लेकिन कॉमन वेल्थ के खेल ने इसे दो पायदान और पीछे पहुचा दिया है....और भारत की रैंकिंग और बिगड़ गई.....कुल 178 देशों की लिस्ट में भारत का नाम 87 जगह पर आ गया है...सोमालिया पहले और हमारा पडोसी म्यांमार दुसरे नंबर पर है....अभी बहुत कुछ करना बांकी है देश को। और यह नासूर जब तक नहीं हटेगा तब तक देश तरक्की कर पायेगा .....मुश्किल है !

सोमवार, 25 अक्तूबर 2010

अमृत खीर दिल्ली की सडकों पर.....!

काफी समय बाद शरद पूर्णिमा का महत्त्व पता चला,,,रास्ते में में और मेरा फ्रेंड और हमारी एक फ्रेंड...जो हमारे साथ ही नौकरी करती है.....वो भी हमारे साथ कार्यालय जाती है.....हम तीनो ....और घर से कार्यालय कर रास्ता...रास्ते में मंदीप बोला यार कुछ लाया हूँ.....मैंने कहा ठीक है....क्या है..? उसने बताया की खीर है.....वो भी अमृत खीर ! मैंने कहा वो क्या होती है...फिर उसने बताया उसकी चाची जी ने पिछली रात को शरद पूर्णिमा के अवसर पर खीर बनाई जाती है....घर पर...और फिर पूरी रात बाहर रखा जाता है ठण्ड में..... सुबह सबको दी जाती है...कहते हैं और माना जाता है कि यह खीर अमृत कि तरह हो जाती है....यह बात जनाब ने महिला सहयोगी को बता दी...फोन पर..फिर क्या था...मांग बड़ी...और जनाब एक प्लास्टिक के डब्बे में पैक कर के ले आया....महिला सहोयगी भी रास्ते में हमारी कार में बैठी तो जनाब ने दे डाला....अमृत खीर ! फिर क्या था...३ चमच आपस में मार काट ....सच में इतनी टेस्टी बनी थी.......कि मज़ा आ गया......!रास्ते में अमृत खीर....और मद्धम मद्धम संगीत के साथ शरद पूर्णिमा को हमने तीसरे दिन किया....और इसका महत्व खीर से पता चला जो हमेसा याद रहेगी......थैंक्स मंदीप ....!

रविवार, 3 अक्तूबर 2010

खेलों का मेला राजधानी में शुरू....!

गर्व की बात है भारत वासियौं के लिए कि खेलों का बड़ा मेला यहाँ पर शुरू होने जा रहा है.....जिसे कॉमनवेल्थ गेम्स के नाम से जाना जाता है...उम्मीद है जल्द ही लिम्पिक भी देखने हो गया...आज कुछ ही घंटों के बाद कॉमनवेल्थ गेम्स का बिगुल बज जाएगा। प्रिंस चार्ल्स और भारत की राष्ट्रपति प्रतिभा पाटिल खेलों की शुरुआत की घोषणा करेंगे। कुल 17 गेम्स में जीतने के लिए 71 देशों के खिलाड़ी मेडल लिए जद्धोजहद करेंगे, कुल 11 स्पोर्ट वेन्यू पर एक-दूसरे से कॉम्पिटिशन करते दिखेंगे।

गेम्स की तैयारियों में जुटी ऑर्गनाइजिंग कमिटी के पास खुश होने के लिए अब कई कारण आ गए ..... बाहर से आने वाले लोगों को गेम्स विलेज काफी भा रहा है ऑस्ट्रेलिया प्रेस के सहचारी जॉन ग्रटफिल्ड ने बताया कि गेम्स विलेज काफी अच्छा है और हमारे एथलीट काफी खुश ... पहले ओलंपियन और पाकिस्तानी हॉकी टीम के मैनेजर मुहम्मद जुनैद ने कहा कि यह काफी प्राइड की बात है कि एक एशियन देश कॉमनवेल्थ जैसे गेम्स को पहली बार करवा रहा है।
गौर फरमाएं तो गेम्स विलेज 63.5 हैक्टर में फैला हुआ है और इसमें 34 रेजिडेंशल टॉवर हैं इसमें 1,168 अपार्टमेंट हैं, जिसमें 4,008 बैडरूम हैं। काफी गेस्ट विलेज को अपने घर की तरह अपना चुकें .... इसमें गेल्ट्स के लिए छोटी-छोटी फेसलिटी का भी ध्यान रखा गया है.... यहां पर पोस्टल सर्विस, एटीएम, बार, बैंक, हैंडीक्राफ्ट, स्पा और भी कई जरूरी चीजों का ध्यान गेस्ट के लिए रखी गई है। विलेज में प्लेयर्स एक साथ मस्ती करते और बात करते भी आसानी से दिख जाते हैं .... कई ऐसे खेल भी है जिनके कॉम्पिटिशन ओपनिंग सेरेमनी के बाद होंगे ऐसे प्लेयर्स बाद में गेम्स विलेज में आ सकते हैं ..... गेम्स वेन्यू के पास सिक्युरिटी का भी काफी ध्यान रखा गया है। अच्छी सुरक्षा दिख रही है..दिल्ली में ब्लू लाइन बस बंद होने से ट्राफिक तो स्मूथ चल रहा है, इतना जाम नहीं लग रहा है जितना पहले लगा करता था...और सड़कों पर डिसिप्लिन भी देखने को मिल रहा है.....